Home राजनीति भाजपा का दांव, जायेगी सुशासन बाबू की कुर्सी

भाजपा का दांव, जायेगी सुशासन बाबू की कुर्सी

Print Friendly, PDF & Email

बिहार में राजनीति इन दिनों गरमाई हुई है. हर दिन कुछ न कुछ घटनाएँ हो रहीं हैं जो चर्चा का विषय बनतीं हैं. मुख्यमंत्री नितीश कुमार लगातार चर्चाओं के केंद्र में हैं. चाहे बिहार विधानसभा में विधानसभा अध्यक्ष को डांटने की घटना हो या चंद रोज पहले एक व्यक्ति द्वारा उनकी सुरक्षा को भेद उन्हें मुक्का मारने की. हर बार नितीश विरोधियों के निशाने पर आ जाते हैं. इतना ही नहीं नितीश कुमार के दौरे भी उतनी ही चर्चा में रहते हैं. हाल ही नितीश ने नालंदा और बाढ़ का दौरा किया. बाढ़ से नितीश सांसद रहे हैं. बाढ़ को जिला बनाये जाने की मांग लम्बे समय से हो रही है. नितीश के इस दौरे और उसके बाद उनकी मीडिया से की गई बातचीत ने बिहार की राजनीति को फिर गरमा दिया है. अब कई तरह के कयास भी लगाये जाने लगे हैं.

माना जा रहा है कि बिहार में जल्द ही मुख्यमंत्री परिवर्तन हो सकता है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के उप राष्ट्रपति बनने की चर्चा जोरों पर है. चर्चाओं की मानें तो BJP उनको उपराष्ट्रपति बनाने का ऑफर देगी तो उनके राज्यसभा जाने का रास्ता साफ हो जाएगा. वो राज्यसभा के सभापति बन जाएंगे.

वैसे भी बिहार के राजनैतिक गलियारे में लम्बे समय से चर्चा है कि वहां भाजपा अब अपना मुख्यमंत्री बनाना चाहती है. अभी बिहार में जनता दल यूनाइटेड और भारतीय जनता पार्टी की सरकार है. नितीश पिछले 17 वर्षों से मुख्यमंत्री हैं. इतना ही नहीं सरकार में सहयोगी रही विकासशील इन्सान पार्टी के तीनों विधायक भी अब भाजपा में शामिल हो चुके हैं. जिसके बाद पार्टी के मुखिया मुकेश सहनी को भी मंत्रिमंडल से विदा कर दिया गया.

ये भी पढ़ें 

लोकसभा में बारातियों और पकवानों के लिए क़ानून की माँग

सतीश महाना बने विधानसभा अध्यक्ष

बिहार विधानसभा में 77 विधायकों के साथ भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बन गई है. बिहार से भाजपा विधायक हरिभूषण ठाकुर ने दावा किया है कि कांग्रेस के 19 में से 13 विधायक भाजपा के संपर्क में हैं जो जल्द ही पार्टी का दामन थाम लेंगे. इन सबके चलते अब सवाल उठने लगा है कि क्या मुख्यमंत्री के पद पर भाजपा की नजर है? वहीं भाजपा विधायक विनय बिहारी के बयान ने इन अटकलों को और हवा दे दी है. मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार भाजपा विधायक विनय ने कहा कि बिहार में नितीश कुमार को अब मुख्यमंत्री पद से हटा देना चाहिए और अब यहां बीजेपी का मुख्यमंत्री होना चाहिए.

खुद CM नीतीश कुमार ने भी इन अटकलों को हवा दे दी. पत्रकारों से बातचीत में नालंदा दौरे को लेकर लोकसभा चुनाव लड़ने के सवाल पर नितीश ने कहा कि ये उनका निजी दौरा है. वो यहां अपने लोगों से मिलने गये थे. साथ ही लोकसभा चुनाव लड़ने की संभावनाओं को तो ख़ारिज कर दिया ही पर राज्यसभा जाने की इच्छा भी व्यक्त कर दी. इन सब से अटकलों का बाजार गर्म है कि क्या नीतीश दिल्ली जाएंगे और बिहार में BJP का मुख्यमंत्री बनेगा? सियासत संभावनाओं का खेल है और वैसे भी नीतीश अपने चौंकाने वाले निर्णय के लिए ही जाने जाते हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार नीतीश ने पत्रकारों से अनौचारिक बातचीत में कहा कि वह बिहार विधानसभा, विधान परिषद और लोकसभा के सदस्य रह चुके हैं. केंद्र की NDA सरकार में मंत्री भी रहे पर राज्यसभा अब तक नहीं गए हैं. उनकी बातों से ऐसा लगता है कि वो राज्यसभा जाने की इच्छा रखते हैं. हालांकि कहा यह भी जा रहा है कि हो सकता है राज्यसभा जाकर केंद्र सरकार में मंत्री बन जाएं. बिहार में अपनी पार्टी के किसी नेता को मुख्यमंत्री बना दें. हांलांकि उनके उप राष्ट्रपति बनने की चर्चा ज्यादा है. ये भी कहा जारहा है कि नीतीश बीते 17 सालों से मुख्यमंत्री हैं. हो सकता है कि अब बिहार से उनका मन भर गया हो इसलिए दिल्ली जाना चाहते हैं.

वहीं कुछ नेताओं ने इन चर्चाओं का खंडन भी किया है. बिहार के कृषि मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता अमरेंद्र कुमार ने कहा कि नीतीश ने अनौपचारिक बातचीत में पत्रकारों से क्या कहा मुझे नहीं पता पर मैं तो चाहता हूं कि वो राज्यसभा न जायें और बिहार के मुख्यमंत्री बने रहें. बतौर सीएम नितीश कुमार ने अच्छा काम किया है और अगर वो रहे तो सूबे का विकास और तेजी से हो सकेगा.

ये भी देखें 

आशीष मिश्रा की जमानत रद्द नहीं कराना चाहती है भाजपा सरकार 

राज्यसभा में ख़त्म हुआ इन सदस्यों का कार्यकाल

वहीं राजद और कांग्रेस जैसी पार्टियाँ नितीश कुमार को फेल मुख्यमंत्री बताते हुए संभावनाओं में सच्चाई होने से इंकार नहीं कर रहीं हैं. इन दलों का मानना है कि नितीश के राज में बिहार में विकास नहीं हो पाया इसीलिए नितीश अब दिल्ली भागना चाहते हैं. इतना ही नहीं उन्होंने इसके लिए भाजपा द्वारा इनपर दबाव बनाये जाने का भी आरोप लगाया.

जदयू प्रवक्ता माधव आनंद ने कहा कि बतौर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में बेहतरीन काम कर रहे हैं. बिहार का हर क्षेत्र में विकास किया है. पूर्व की सरकारों ने बिहार का बंटाधार कर दिया था. नीतीश ने बिहार को हर क्षेत्र में मजबूत बनाया. अभी वो मुख्यमंत्री हैं. सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री, लेकिन भविष्य में वो क्या करेंगे ये कोई नहीं जनता. राजनीति में सब कुछ संभव है.

You may also like

Leave a Comment