Home सरोकार आतंकी साजिश हो सकता है गोरखनाथ मंदिर हमला

आतंकी साजिश हो सकता है गोरखनाथ मंदिर हमला

by National News Desk
Print Friendly, PDF & Email

रविन्द्र शर्मा/लखनऊ। रविवार शाम सात बजे गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों पर एक युवक द्वारा धारदार हथियार से जानलेवा हमला किया गया। हमले की खबर सुनकर शासन प्रशासन के हाथ पाँव फूल गए। आनन-फानन मैं भारी पुलिस बल मौके पर तैनात किया गया तथा घायल पीएसी जवानों को उपचार हेतु तत्काल बीआरडी मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। जहां पर जवानों का उपचार जारी है।

मन्दिर की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों पर हमला करने के बाद हमलावर ने मजहबी नारे लगाते हुए मन्दिर में घुसने का प्रयास किया। पुलिसकर्मियों की सजगता के कारण हमलावर के मंसूबे सफल नहीं हो सके और मौजूद पुलिसकर्मियों एवं स्थानीय पुलिस की मदद से हमलावर को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस घटना के संबंध में गोरखनाथ थाने में दो मुकदमा पंजीकृत किए गए हैं तथा हमलावर से बरामद मोबाइल, लैपटॉप एवं अन्य सामान आदि के आधार पर विवेचना की जा रही है।

ये भी पढ़ें..

कमलनाथ का दावा, कांग्रेस में बहुत कुछ बदल जायेगा
शिवपाल का भाजपा में जाना तय

आतंकी साजिश हो सकती है गोरखनाथ मन्दिर की घटना : अवनीश अवस्थी

अपर मुख्य सचिव गृह गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में तैनात पीएसी के जवानों पर हुए हमले के विषय में आज लोकभावन स्थित मीडिया सेंटर में मीडिया प्रतिनिधियों को जानकारी देते हुए अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी एवं अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि उक्त हमले में दो पीएसी जवानों को गंभीर चोटें आई हैं।

हमले में घायल पीएसी कांस्टेबल गोपाल गौड़ और अनिल पासवान उपचाराधीन हैं। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि हमलावर व्यक्ति आतंकी घटना को अंजाम देने के लिए बदनीयती से मंदिर परिसर में घुसने का प्रयास कर रहा था जिसे पीएसी के बहादुर जवानों ने नाकाम कर दिया। यह हमला एक गंभीर साजिश का हिस्सा हो सकता है, इस घटनाक्रम में आतंकी संलिप्तता से इन्कार नहीं किया जा सकता है।
मीडिया कर्मियों से मुखातिब अपर पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि इस घटना की गहनता से जांच की जा रही है। हमारे बहादुर जवानों ने बड़ी घटना को होने से रोका है। यदि हमलावर मंदिर में प्रवेश कर जाता तो बड़ी वारदात हो सकती थी।

एटीएस एवं एसटीएफ की संयुक्त टीम करेगी घटना की जांच

मुख्यमंत्री ने गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में तैनात जवानों पर हमले की घटना की विवेचना एटीएस को दिए जाने का निर्देश दिया है। इस मामले की जांच अब एटीएस एवं एसटीएफ की टीम संयुक्त रूप से करेगी।

मुख्यमंत्री ने की 5 लाख के पुरुस्कार की घोषणा

हमले को नाकाम करने वाले बहादुर जवानों- गोपाल गौड़, अनिल पासवान एवं अनुराग राजपूत के लिए मुख्यमंत्री की ओर से 5 लाख के पुरस्कार की घोषणा की गई है। जो कि विभागीय औपचारिकताएं पूर्ण कर शीघ्र दे दिया जाएगा।

You may also like

Leave a Comment