Home राजनीति कांग्रेस छोड़ सकते हैं अहमद पटेल के बेटे फैसल

कांग्रेस छोड़ सकते हैं अहमद पटेल के बेटे फैसल

कांग्रेस के दिवंगत नेता अहमद पटेल के बेटे फैसल पटेल जल्द ही कांग्रेस छोड़ सकते हैं. उनके पार्टी छोड़ने की चर्चा उनके ही एक ट्विट के बाद शुरू हुई. अपने ट्विट में कांग्रेस आलाकमान से नाराजगी जाहिर करते हुए फैसल ने लिखा कि मेरे पास विकल्प खुले हुए हैं. मैं अब इंतजार करके थक चूका हूं.पार्टी हाईकमान की तरफ से कोई प्रोत्साहन नहीं मिल रहा है.

फैसल के इस ट्विट पर लोगों की मिली-जुली प्रतिक्रियाएं सामने आ रहीं हैं. कुछ लोग उन्हें जानकार और अपने शुभचिंतकों से चर्चा करने की सलाह दे रहे हैं तो कुछ उनके इस ट्विट पर ही सवाल उठा रहे हैं.

ये भी पढ़ें..

कमलनाथ का दावा, कांग्रेस में बहुत कुछ बदल जायेगा

भाजपा का दांव, जायेगी सुशासन बाबू की कुर्सी

आपको बताते चलें इसके पीछे भी उनका ही बयान कारण बना है. पिछले महीने के अंत में फैसल पटेल ने कहा था कि वो अभी औपचारिक तौर पर राजनीति में आने को लेकर आश्वस्त नहीं हैं. साथ ही उन्होंने पर्दे के पीछे रह कर अपने गृह जनपद भरूच और नर्मदा में पार्टी के लिए काम करने की बात भी कही थी.

इतना ही नहीं गये 27 मार्च को फैसल ने ट्विट कर भरूच और नर्मदा जिले की 7 विधानसभा सीटों पर 1 अप्रैल से दौरा करने का ऐलान भी किया. उन्होंने कहा कि वो अपने दौरे में इन विधानसभा सीटों की स्थिति और राजनैतिक हालात को समझेंगे.

हालांकि तीन दिन बाद ही उन्होंने रमजान का हवाल देते हुए अपने डरे को फ़िलहाल स्थगित कर दिया था. अब फैसल के इस ट्विट ने गुजरात में सियासी हलचल बढ़ा दी है.

देखें विडियो..
कमलनाथ का दावा, बदल जाएगी कांग्रेस 

फैसल के इस ट्विट पर प्रतिक्रिया देते हुए लोगों ने अब दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविन्द केजरीवाल के साथ उनकी फोटो ट्विट कर उनसे सवाल पूछना शुरू कर दिया. उनके हिसाब से फैसल पहले से ही आप में जाने की तैयारी में थे.


वहीं कुछ लोगों ने पद का लालच छोड़ पार्टी की सेवा करने की भी सलाह दे डाली. लोगों ने उन्हें अपने पिता से सबक लेने की बात भी कही है जिन्होंने बिना किसी लालसा पुरे जीवन कांग्रेस पार्टी की सेवा की.

अहमद पटेल को सोनिया गांधी के सबसे करीबी नेताओं में माना जाता था. वो कांग्रेस पार्टी के कोषाध्यक्ष थे. इतना ही नहीं अहमद पटेल सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव भी थे. 2020 में उनका निधन हो गया था. परिवारवाद का आरोप झेलने वाली कांग्रेस पार्टी में इतने उच्च पदों पर रहने के बाद भी अहमद पटेल अपने बेटे और बेटी को राजनीति में नहीं लाये थे.

बताते चलें कि फैसल स्वयं ही फ़िलहाल राजनीति में सक्रिय न होने और चुनाव न लड़ने की बात कह चुके हैं. ऐसे में अब उनका ये बयान महत्वपूर्ण माना जा रहा है. खासकर तब जब इसी साल गुजरात में विधानसभा के चुनाव होने हैं और राहुल गांधी वहां टीम बना चुनाव की तैयारियों में लगे हैं.

You may also like

Leave a Comment