Home राजनीति अग्निपथ को किसान बिल की ही तरह वापस लेना पड़ेगा : राहुल

अग्निपथ को किसान बिल की ही तरह वापस लेना पड़ेगा : राहुल

Print Friendly, PDF & Email
राहुल गांधी ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि किसान बिल के 3 काले कानूनों की ही तरह सरकार को अग्निपथ योजना भी वापस लेनी पड़ेगी.

सेना भर्ती के केंद्र सरकार के योजना अग्निपथ का पुरे देश में विरोध हो रहा है. उत्तर प्रदेश, बिहार, दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, बंगाल, हिमांचल प्रदेश और तेलंगाना जैसे राज्यों में युवा न सिर्फ इसका विरोध कर रहे हैं बल्कि इस योजना को वापस लेने की मांग को लेकर लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. इसे लेकर राजनीति भी गरमाई हुई है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि 3 काले कृषि कानूनों की ही तरह सरकार को इसे भी वापस लेना पड़ेगा. साथ ही उन्होंने सरकार पर जवानों और किसानों का अपमान करने का आरोप भी लगाया है.

पढ़ें: ‘अग्निपथ’ की आग में कई राज्य
देखें : 
छात्रों-युवाओं का बढ़ता समर्थन : ‘किसान बिल’ बनने की राह पर ‘अग्निपथ’ योजना

राहुल ने ट्विट किया कि 8 सालों से लगातार भाजपा सरकार ने ‘जय जवान, जय किसान’ के मूल्यों का अपमान किया है। मैंने पहले भी कहा था कि प्रधानमंत्री जी को काले कृषि कानून वापस लेने पड़ेंगे। ठीक उसी तरह उन्हें ‘माफ़ीवीर’ बनकर देश के युवाओं की बात माननी पड़ेगी और ‘अग्निपथ’ को वापस लेना ही पड़ेगा।

प्रियंका गांधी ने भी इस मुद्दे पर ट्विट किया है. अपने ट्विट में प्रियंका ने लिखा है कि मैंने 29 मार्च को रक्षामंत्री को पत्र लिख कर युवाओं की इन मांगों पर ध्यान देकर तुरंत हल निकलने का निवेदन किया था. लेकिन सरकार ने युवाओं की आवाज़ को कोई महत्व ही नहीं दिया.

इन सारे बवाल के बीच गृह मंत्रालय ने भी एक बड़ा ऐलान किया है. केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने बताया है कि CAPFs और असम रायफल्स में होने वाली भर्तियों में 4 साल पूरा करने वाले अग्निवीरों को कितने फीसदी आरक्षण दिया जाएगा. गृहमंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि इन अर्धसैनिक बलों में अग्निवीरों को 10 फीसदी का आरक्षण देने का फैसला किया गया है.

You may also like

Leave a Comment