Home राजनीति योगीराज 2.0 : सौ दिन सरकार के

योगीराज 2.0 : सौ दिन सरकार के

Print Friendly, PDF & Email

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने के अवसर पर सौ दिन के कामकाज का रिपोर्ट कार्ड पेश किया , जिसमें मुख्यमंत्री ने वर्तमान के साथ ही भविष्य की कार्ययोजना भी सामने रखी ।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी सरकार ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देश अनुसार सौ दिन, छः माह, एक वर्ष तथा पांच वर्ष का लक्ष्य निर्धारित कर जो कार्य योजना बनाई है उस पर पूरे मंत्रिमंडल के साथियों व अधिकारियों के साथ टीम वर्क की भावना से कार्य करते हुए अमल कर रहे हैं। हमें दूसरा कार्यकाल जनता जनार्दन के सहयोग व आशीर्वाद से मिला है, इस नए कार्यकाल में हम एक नई ऊर्जा के साथ प्रदेश की जनता की सेवा कर रहे हैं। इसी टीम भावना के साथ कार्य करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा निर्धारित किए हुए लक्ष्य फाइव ट्रिलियन इकोनॉमी में उत्तर प्रदेश राज्य निश्चित रूप से महत्वपूर्ण एवं अग्रणी भूमिका निभायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सामाजिक शांति और गतिशीलता के माहौल में प्रदेश सरकार ने औद्योगिक गतिविधियों, निर्माण कार्य तथा पूंजी निवेश के मार्ग को और अधिक प्रशस्त किया है। पिछले 100 दिनों में ग्राउंडब्रेकिंग सेरेमनी- 3 के अंतर्गत 80,224 करोड़ से अधिक की परियोजनाओं का शुभारंभ माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कर कमलों से किया गया है। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे के कार्य को पूर्ण कर लिया गया है, देश की सबसे बड़ी एक्सप्रेसवे परियोजना गंगा एक्सप्रेसवे का कार्य शुरू हो चुका है। औद्योगिक विकास, मेन्यूफैक्चरिंग, निर्यात वृद्धि आदि क्षेत्रों में एक नया उत्साह एक नई उछाल मौजूदा सरकार में परिलक्षित हो रही है। उत्तर प्रदेश इस समय देश के अचीवर्स-स्टेट की लिस्ट में शामिल हो गया है। हमारी सरकार ने विगत दिनों अपने दूसरे कार्यकाल का बजट प्रस्तुत किया। इस 6.15 लाख करोड़ के विशाल एवं सर्व समावेशी बजट में कानून व्यवस्था, खेती किसानी, महिला एवं बाल कल्याण, युवा, चिकित्सा व स्वास्थ्य, शिक्षा, सामाजिक सुरक्षा, रोजगार और अवस्थापना सुविधाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। 100 दिनों के एक अल्प समय में ही लोक कल्याण संकल्प पत्र के 103 बिंदुओं में से 97 बिंदुओं पर कार्य क्रियान्वयन कर एक बड़ा मील का पत्थर स्थापित किया है।

सेवा सुरक्षा और सुशासन के लिए समर्पित 100 दिन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी व गठबंधन के मुख्यमंत्री के रूप में दोबारा सत्ता में आने पर 100 दिन के सेवा, सुरक्षा और सुशासन के प्रति समर्पित कार्यकाल की पहली प्रेस वार्ता में अपने वरिष्ठ सहयोगियों की ओर से आप सब का हृदय से स्वागत करता हूं, उत्तर प्रदेश की जनता जनार्दन ने आदरणीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व और उनके मार्गदर्शन में अभी हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा गठबंधन को प्रचंड बहुमत देकर के जिस उद्देश्य से अपना आशीर्वाद दिया था, वहीं जीत का सिलसिला जन विश्वास का प्रतीक नित नए आयाम स्थापित कर रहा है। चुनाव के बाद उत्तर प्रदेश विधान परिषद के 36 सीटों पर चुनाव संपन्न हुए जिसमें से 33 सीटें भाजपा जीती, बाकी बसपा और कांग्रेस शून्य पर रहे। 87 वर्षों बाद उत्तर प्रदेश में उच्च सदन कांग्रेस विहीन हुआ है। इस दौरान उप चुनाव भी संपन्न हुए हैं, जिसमें रामपुर व आजमगढ़ लोकसभा सीट जो पूर्व में समाजवादी पार्टी ने जीती थी, इस उपचुनाव में जनता जनार्दन का आशीर्वाद भारतीय जनता पार्टी को प्राप्त हुआ और यह भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नीतियों की वजह से और सरकार की सक्रियता एवं बेहतर समन्वय का एक परिणाम है, जो जनता जनार्दन का आशीर्वाद फिर भाजपा के प्रत्याशियों को प्राप्त हुआ, जिससे दोनों सीटों पर भाजपा की जीत सुनिश्चित हुई है।

जो कहा सो किया- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रेस प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि हम भाषण में विश्वास नहीं रखते, हमने जो कहा सो किया, उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा राज्य है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बार-बार कहते हैं कि उत्तर प्रदेश संभावनाओं का प्रदेश है और उत्तर प्रदेश अपार क्षमता रखता है। 25 मार्च को अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल में हमने शपथ ली है, इतने वर्षों में कोई भी सरकार अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सकी है, ऐसा पहली बार हुआ है कि हमने 5 वर्ष का कार्यकाल पूरा किया और पुनः उत्तर प्रदेश में दूसरी बार सरकार बनाई। हमने टीम वर्क की भावना से कार्य करते हुए पिछले कार्यकाल में भी बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं।

पढ़ें : महाराष्ट्र : CM शिंदे, तो सरकार किसकी?

देखें: राष्ट्रपति चुनाव : असमंजस में विपक्ष | ममता ने की मुर्मू के समर्थन की बात

तकनीकी का बेहतर इस्तेमाल करते हुए लोगों को नित नई-नई सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं। हमने ई-पेंशन योजना लागू की इससे लोगों को अपने पेंशन संबंधी कार्यों के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। उत्तर प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है, जहां पर ई-पेंशन योजना लागू की गई है। अपने कार्यकाल के शुरुआती विधानसभा सत्र में हमने ई-विधान लागू किया, ई-विधान के माध्यम से विधानसभा सत्र सुचारू रूप से संपन्न हुआ।

आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष में राष्ट्रपति महोदय का संयुक्त सदन, विधान सभा व विधा परिषद के समक्ष आगमन हुआ। यह उत्तर प्रदेश के लिए परम सौभाग्य एवं गौरव की बात थी। जहां 2017 से पहले उत्तर प्रदेश के सामने पहचान का संकट था, वहीं पिछले पांच वर्ष में कानून का राज स्थापित कर हमने उत्तर प्रदेश के बारे में लोगों की धारणा बदली है। 2017 से पहले उत्तर प्रदेश में निवेश एक सपना हुआ करता था। हमारे पिछले कार्यकाल में प्रदेश के हालात इतने अच्छे हुए हैं कि अब यहां निवेशक आने लगे हैं। हमारी सरकार की पारदर्शी नीतियों के कारण उत्तर प्रदेश में निवेशकों का विश्वास बढ़ा है। आज देश और दुनिया के जानी माने उद्योग घराने उत्तर प्रदेश में अपनी इंडस्ट्री की स्थापना कर रहे हैं।

अपराध पर जीरो टालरेंस की नीति पर कायम

अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति के तहत कार्य किया है। गुंडों, माफियाओं व अपराधियों पर कार्रवाई करते हुए सरकार ने इनकी 925 करोड़ से अधिक की अवैध संपत्तियां जब्त की हैं। हमारी सरकार ने 76000 अवैध पार्किंग स्थल तथा अनगिनत अवैध टैक्सी स्टैंड हटाए हैं। वही बड़े ही सौहार्दपूर्ण ढंग से धार्मिक स्थलों से 1,20000 से अधिक माइक हटाए अथवा उनके वॉल्यूम कम कराए। इन माईकों को उतारने की कार्रवाई में किसी भी तरह का कोई हो हल्ला नहीं हुआ। आज कोई भी धार्मिक कार्यक्रम सड़क पर होते हुए आपको दिखाई नहीं देगा।

महिला अपराधों पर रोक लगी

उत्तर प्रदेश में महिला व बालिकाओं के प्रति अपराध में भारी कमी आई है। इस तरह के अपराध करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करते हुए उनको कानून से सजा दिलाने का कार्य हमारी सरकार ने किया है। हमने विकास की रफ्तार को आगे बढ़ाते हुए प्रदेश में भारी मात्रा में अग्निशमन केंद्रों की स्थापना की है। हमारा लक्ष्य है कि आगामी 2 वर्ष में प्रत्येक तहसील स्तर पर एक अग्निशमन केंद्र होगा। विगत वर्षों के हमारी सरकार के कार्यकाल में उत्तर प्रदेश की जीडीपी में दोगुने की वृद्धि हुई है, वही प्रति व्यक्ति आय में भी बढ़ी है। 2017 के बाद से हमने हर वर्ष बजट का दायरा बढ़ाया है। ”

ODOP से मजबूत हुई जनपदों की पहचान

वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट” योजना को चला कर हर जिले के अपने एक उत्पाद से उस जनपद की पहचान बनाई, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना से श्रमिकों का मान बढ़ाया है, उत्तर प्रदेश में बेरोजगारी दर में गिरावट आई है, निर्यात बढ़ा है। 2017 से पहले जो प्रदेश परिवारवाद, दंगों व अराजकता के लिए जाना जाता था उसी प्रदेश में हमने विकास और बदलाव की लहर पैदा की है। पूर्व की सरकारों में केंद्र सरकार की योजनाओं को लागू करने की इच्छा शक्ति ही नहीं होती थी। हमने 5 वर्ष में कानून का राज स्थापित किया है, जिसके परिणाम स्वरूप निवेश आया है।

युवाओं – बालिकाओं पर खास फोकस

युवाओं को टैब तथा स्मार्टफोन वितरित किए हैं, खिलाड़ियों को प्राथमिकता के आधार पर नौकरी दी, युवाओं को रोजगार दिलाने हेतु रोजगार मेलों का आयोजन किया, निशुल्क राशन वितरण किया, पेंशन की राशि बढ़ाई, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना में लाभार्थी कन्याओं की संख्या बढ़ाई, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के माध्यम से गरीब कन्याओं के विवाह संपन्न कराए, गन्ना किसानों का समय अनुरूप भुगतान किया, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से 2 करोड़ 55 लाख किसानों को लाभ मिल रहा है, किसानों की फसलों का बीमा कराया, गांव में निवास कर रहे लोगों को उनके आवास के दस्तावेज के रूप में घरौंनी का वितरण किया, गांव में बैंक सखी तथा विद्युत सखी सुचारू रूप से अपना कार्य कर रही हैं।

आज ग्राम सचिवालय की परिकल्पना का सपना साकार हो रहा है। हमने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का निर्माण कराया जिसका जल्द ही प्रधानमंत्री उद्घाटन करेंगे, गंगा एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य प्रगति पर है। प्रदेश को विकास की एक नई उड़ान दी है, हम 2017 में जब सरकार में आए थे तो मात्र दो एयरपोर्ट पूर्ण रूप से और दो आंशिक रूप से संचालित थे आज हमने उत्तर प्रदेश में अनेकों एयरपोर्ट को संचालित कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की परिकल्पना “हवाई चप्पल वाला भी हवाई जहाज में यात्रा करेगा” को साकार करने का कार्य किया है।
कोरोना महामारी के दौरान हमारी सरकार प्रदेशवासियों के साथ खड़ी रही, हमने बड़ी ही तत्परता से कोविड को नियंत्रण किया, प्रदेश में दिमागी बुखार कालाजार आदि अन्य प्रचलित बीमारियों पर नियंत्रण करने में हम सफल रहे। प्रदेश में संचालित एंबुलेंस सेवा 108 का रिस्पांस टाइम घटाया तथा उसमें नई एंबुलेंस भी जोड़ी गई हैं।

35 करोड़ वृक्षारोपण का लक्ष्य

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि हमारी सरकार ने पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन के क्षेत्र में बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य किए हैं। कल से ही हम प्रदेश में वृक्षारोपण अभियान की शुरुआत करने जा रहे हैं, जिसके तहत 6, 7 जुलाई तथा 15 अगस्त को भी वृक्षारोपण किया जाएगा। हमारी सरकार ने 35 करोड़ वृक्ष लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया है।

You may also like

Leave a Comment