Home राजनीति TMC ने महुआ से किया किनारा

TMC ने महुआ से किया किनारा

Print Friendly, PDF & Email

डॉक्युमेंट्री फिल्म ‘काली’ के पोस्टर से उठे विवाद के बाद दिए गये अपने ही बयान में टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा घिर गई हैं. टीएमसी ने उनके बयान से किनारा कर लिया जिसके बाद महुआ ने उसे ट्विटर पर अनफॉलो कर दिया.

देवी काली को लेकर अपने दिए गये बयान के बाद महुआ मोइत्रा चौतरफा घिर गई हैं. पश्चिम बंगाल के कृष्णानगर लोकसभा सीट से टीएमसी की सांसद को उनके बेबाकी के लिए जाना जाता है. आमजन से जुड़े तमाम मुद्दे उठाने पर महुआ को लोगों का व्यापक समर्थन भी मिलता है.

महुआ ने टीएमसी को अनफॉलो किया

महुआ के बयान का दिल्ली से लेकर प. बंगाल तक विरोध हो रहा है. विरोध के बीच उनकी अपनी ही पार्टी तृणमूल ने उनके बयान से पल्ला झाड़ लिया है. टीएमसी की तरफ से जारी अधिकृत बयान में कहा गया है कि ये उनके निजी विचार हैं, और पार्टी का इससे कोई लेना-देना नहीं. साथ ही पार्टी ने इसका समर्थन करने से भी इंकार किया है. इतना ही नहीं महुआ के इस बयान की टीएमसी ने निंदा भी की है. टीएमसी के साथ छोड़ देने के बाद महुआ मोइत्रा ने ट्विटर पर अपनी ही पार्टी को अनफॉलो कर दिया.

शुभेंदु ने बोला ममता पर हमला

दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी टीएमसी सांसद के बयान को लेकर आक्रामक हो गयी है. प. बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने ट्विटर पर कार्यक्रम का विडियो शेयर करते हुए प. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी पर निशाना साधते हुए सवाल किया है कि महुआ पर लुक आउट नोटिस कब जारी होगी?

अधिकारी ने कहा कि महुआ ने माँ काली का अपमान किया है. अब मैं काली की मूर्ती को लेकर रैली करूंगा. उन्होंने कहा कि सनातन धर्म का अपमान बर्दाश्त नहीं करूंगा. महुआ को तुरंत गिरफ्तार किया जाये.

महुआ ने दिया था विवादित बयान

महुआ मोइत्रा ने एक समाचार चैनल के कार्यक्रम में देवी काली को लेकर बयान दिया. मोइत्रा ने कहा कि काली के कई रूप हैं. लोगों की अलग-अलग राय होती है, मुझे इस पोस्टर को लेकर कोई परेशानी नहीं है. उन्होंने अपने बयान में कहा’ मेरे लिए काली मांस खाने वाली, शराब स्वीकार करने वाली देवी हैं.आपको अपनी देवी की कल्पना करने की स्वतंत्रता है. कुछ स्थान हैं जहाँ देवताओं को विस्की की पेशकश की  जाती है, वहीं कुछ जगहों पर यह ईश निंदा है.

पढ़ें : योगीराज 2.0 : सौ दिन सरकार के
देखें : क्या ट्रेंड बन गया है हिन्दू-देवी देवताओं का अपमान?

क्या है पूरा मामला

तीन दिनों से देवी काली की पोस्टर को लेकर विवाद चल रहा है. दरअसल लीना मणिमेकलई ने 2 जुलाई को अपनी डॉक्युमेंट्री फिल्म ‘काली’ का पोस्टर रिलीज किया. इस पोस्टर में देवी काली के वेश में अभिनेत्री को सिगरेट पीते हुए दिखाया है. इसमें देवी काली के एक हाथ में त्रिशूल है तो दूसरे हाथ में एलजीबीटी समुदाय का सतरंगी झंडा. पोस्टर के रिलीज होने के बाद से ही इसका लगातार विरोध हो रहा है. इस डॉक्युमेंट्री फिल्म का प्रीमियर टोरंटो के खान आगा खान म्यूजियम में किया गया था. विरोध के बाद भारतीय उच्चायोग ने इस तरह के कंटेंट को हटाने की मांग की थी.

डॉक्युमेंट्री फिल्म की मेकर लीना मणिमेकलई पर अब तक चार राज्यों में एफआईआर दर्ज हो चुकी है. दिल्ली, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और बिहार में धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में लीना पर ये एफआईआर दर्ज हुए हैं. साथ ही उनके गिरफतारी की मांग भी जारी है. वहीं खान आगा खान म्यूजियम ने बयान जारी कर अपना खेद जताया है.

You may also like

Leave a Comment