Home राजनीति तीसरी बार राष्ट्रीय अध्यक्ष बने अखिलेश

तीसरी बार राष्ट्रीय अध्यक्ष बने अखिलेश

Print Friendly, PDF & Email

समाजवादी पार्टी के दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन के अंतिम दिन गुरुवार को अखिलेश यादव को तीसरी बार पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया. सपा के महासचिव रामगोपाल यादव ने अखिलेश को राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने की घोषणा की. उन्हें निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया.

लखनऊ│ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ चल रहे समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सम्मलेन में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को फिर से पार्टी का राष्ट्रीय चुन लिया गया. अखिलेश को ये जिम्मेदारी तीसरी बार मिली है. रमाबाई अम्बेडकर मैदान में आयोजित इस दो दिवसीय सम्मलेन के अंतिम दिन ये  घोषणा हुई. राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने के बाद अखिलेश ने पार्टी कार्यकर्ताओं का आभार जताया.

अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि मुझे अध्यक्ष चुनकर आपने मुझपर जो भरोसा जताया है, उसके लिए मैं आप सबका बहुत आभारी हूं. ये पद नहीं बल्कि जिम्मेदारी है. ये जिम्मेदारी ऐसे समय में मिली है जब संविधान और संस्थाएं खतरे में हैं. आपके सहयोग से हम लड़ेंगे और परास्त भी करेंगे.

ये लगातार तीसरा मौका है जब अखिलेश यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया है. पहली बार वो 1 जनवरी 2014 को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने थे. तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव को हटा कर उनकी जगह अखिलेश यादव को ये जिम्मा सौंपा गया था. उसके बाद फिर 2017 में आगरा में हुए पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन में उन्हें दूबारा पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया.  इसके पहले 1992 में समाजवादी पार्टी के गठन के बाद से ही मुलायम सिंह यादव लगातार पार्टी के अध्यक्ष चुने जाते रहे.

सम्मलेन में नरेश उत्तम को उत्तर प्रदेश का अध्यक्ष चुना गया. सम्मलेन में अपने संबोधन में अखिलेश  यादव ने बेरोजगारी, महंगाई जैसे मुद्दों के साथ-साथ नोटबंदी और GST से हुए नुकसान को लेकर भाजपा सरकार पर जम कर निशाना साधा. इतना ही नहीं तमाम संवैधानिक संस्थाओं के दुरूपयोग का भी आरोप उन्होंने सरकार पर लगाया.

पढ़ें : RSS बैन पर गिरिराज का हमला
देखें : पांच तस्वीरें जिन्हें शेयर कर फंस गई भाजपा 

अखिलेश यादव ने इस मौके पर वरिष्ठ समाजवादी नेता आजम खान भी जिक्र किया और कहा कि राजनीतिक इतिहास में सबसे ज्यादा मुकदमे इन पर लगाये गये.

 

You may also like

Leave a Comment